CHHATTISGARHCRIMEKORBA

लालूराम कॉलोनी के मकान चोरी से बचे,पकड़े गए चोरों ने किया खुलासा

कोरबा। लालूराम कॉलोनी के मकान चोरी का शिकार होने से इसलिए बच गए क्योंकि किसी भी घर के दरवाजे पर ताला नहीं लगा था। चोरों ने घंटाघर क्षेत्र में तालाबंद मकान को तलाशा और फिर वारदात को अंजाम दिया।
कोरबा जिले के सिविल लाइन रामपुर थाना अंतर्गत एमपी नगर कालोनी के निवासी हार्डवेयर व्यवसायी के घर से हुई नगदी व जेवरातों की चोरी का मामला सायबर सेल की मदद से सुलझा लिया गया है। रॉकी चौरसिया पिता राजकिशोर चौरसिया एम.आई.जी. 1/67 महाराणा प्रताप नगर के घर से 8-9 दिसंबर की मध्य रात्रि हुई 95 हजार की चोरी को सुलझाने पुलिस की चार टीम लगी रही। संदिग्ध नंबरों का डाटा खंगालने के साथ घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले गए जिसमें तीन संदेहियों की तलाश शुरू हुई। सोशल मीडिया की मदद से मुखबिर के जरिए सूचना पर संदेही थाना तोरवा जिला बिलासपुर निवासी शातिर बदमाश सुरेश पटेल उर्फ शान्तनु को घेराबंदी कर हिरासत में लिया। कड़ी पूछताछ में उसने राजेश साहू उर्फ बंबईया और शशीकांत वैष्णव उर्फ फुन्थरु के साथ कोरबा आकर चोरी करना बताया। सुरेश के कब्जे से नगद 45,180 रुपए एवं सोने चांदी के जेवरात व चोरी के रकम से खरीदा हुआ एक मोबाइल जप्त किया गया। राजेश साहू ने अपने हिस्सा का पैसा व सोने-चांदी अपने भाई भीम कुमार साहू उर्फ राजू के पास रखना बताया। भीम साहू को पकड़कर नगद 50,000 रूपए एवं सोने की अंगूठी बरामद किया गया। दो अन्य आरोपी राजेश साहू उर्फ बंबईया और शशीकांत वैष्णव फरार हैं।
आरोपियों ने पुलिस को बताया कि 8 दिसंबर को दोपहर 3 बजे तीनों दोस्त बस में बैठकर टीपी नगर कोरबा आये। टीपी नगर से लालूराम कॉलोनी तरफ सूने मकान की तलाश किये किन्तु ऐसा कोई घर नहीं मिला। इसके बाद आटो से घंटाघर आये। घंटाघर से आगे सूने मकान की रेकी किये जहां रात में एक घर के सामने ताला लगा हुआ देखा। घर देखकर वापस निहारिका तरफ आए और निहारिका के पास शराब लेकर पानी टंकी के पास शराब पीकर खाना खाकर रात्रि 2 बजे उक्त मकान में चोरी के बाद चांपा होते हुए बिलासपुर लौट गये।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button