BilaspurCHHATTISGARHKORBANATIONALRaipurTECH NEWS

सरगबुंदिया साइडिंग से कोयला चोरी की गलत जांच,ननकीराम ने कोयला मंत्री को बताई हकीकत,CBI जांच कराएं

कोरबा। छत्तीसगढ़ प्रदेश के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री ननकीराम कंवर ने सरगबुंदिया रेलवे साइडिंग मे किये गये कोयला चोरी और भू विस्थापितों की मांग को लेकर केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी कोयला और खान विभाग से की मुलाकात कर शिकायत पत्र सौंपा है।

वरिष्ठ आदिवासी भाजपा नेता व पूर्व मंत्री ननकी राम कंवर ने रेलवे विभाग के द्वारा किए गए सरगबुंदिया रेलवे साइडिंग में कोयला चोरी की गलत जांच पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया है। ननकी राम कंवर ने रेलवे विभाग के द्वारा की गई जांच को गलत ठहराया है। ननकी राम कंवर ने कोयला विभाग के केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी से मुलाकात कर सरगबुंदिया रेलवे साइडिंग में किए गए कोयला चोरी की जांच गलत ढंग से किया गया है। रेलवे के द्वारा अपने पत्र में बताया गया कि ट्रेन में कोयला एडजस्टमेंट करने के लिए सरगबुंदिया रेलवे साईडिंग में कोयला स्टाक कर कोयला समायोजन किया जाता था। जिस जांच को गलत ठहराते हुए ननकी राम कंवर ने कहा कि लाखो मैट्रिक टन कोयला सरगबुंदिया रेलवे सइडिंग में कोयला खाली कर ट्रेलर गाड़ी के माध्यम से कोयला माफियाओं के द्वारा कोयला चोरी किया जाता था।

0 ननकीराम ने खुद पकड़ा था कोयला चोरी

ननकी राम कंवर ने कोयला मंत्री को बताया कि मेरे द्वारा भी सरगबुंदिया रेलवे साइडिंग से करीब 30 गाड़ियों को कोयला चोरी कर ले जाते हुए पकड़ा गया था जिला प्रशासन पुलिस प्रशासन को सूचना दिया गया था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। तब मेरे द्वारा धरना भी दिया गया था इस कोयला चोरी में कोल माफियाओं के साथ एसईसीएल, रेलवे विभाग के अधिकारी ,तत्कालिन जिला प्रशासन कोरबा के अधिकारी, खनिज अधिकारी, के साथ-साथ कोयला चोरी में कोरबा के लोग भी संलिप्त थे। ननकीराम कंवर ने जांच पर सवाल करते हुए कहा है कि जब सरगबुंदिया रेल्वे स्टेशन मे वे-ब्रिज नहीं है और किसी प्रकार का वैध अनुमति प्रशासन से मिली नहीं है तो फिर वहां कोयला स्टॉक कैसे किया जाता था और कोयला का वजन कैसे किया जा सकता था। कितना कोयला घटा है व कितना कोयला बड़ा है इसकी जानकारी कैसे पता चलती थी। इसलिए कोयला एडजस्टमेंट और समायोजन करने का सवाल ही नहीं होता। पुरी की पूरी कोयला चोरी किया गया है। और यदि यह प्रक्रिया सही था तो जांच अधिकारी के द्वारा मेरे पत्र पर या का जाना कि मेरे पत्र को संज्ञान में आने पर कोयला रेल्वे साइडिंग का काम बंद कर दिया गया तो। मैं पूछता हूं क्यों बंद कर दिया गया ? क्योंकि पूरी प्रक्रिया ही गलत थी इसलिए इस संबंध में की गई गलत जांच को समाप्त करते हुए केंद्रीय जांच एजेंसी व सीबीआई से जांच करने का मांग किया गया है।

0 भू विस्थापितों की समस्याओं से भी अवगत कराया

कोरबा जिले के भू विस्थापितो को नौकरी व मुआवजा देने की मांग को लेकर कोयला एवं खनन मंत्री जी किशन रेड्डी से चर्चा कर समस्या से अवगत कराया गया। अनुमान लगाया जा रहा है कि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की मोदी की सरकार है और ननकी राम कंवर ने पूर्व में लगातार छत्तीसगढ़ प्रदेश के भ्रष्टाचार कोयला घोटाला , शराब घोटाला, महादेव घोटाला, डीएमएफ घोटाला, पीएससी घोटाला जैसे कई प्रकार के घोटाले को सामने लाकर केंद्र की मोदी सरकार को अवगत कराते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश में कार्रवाई कराया है जिससे करीब सैकड़ो अधिकारी जेल की हवा खा रहे हैं और भ्रष्टाचार के विरोध छत्तीसगढ़ प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन पाई है। इसे देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि कोयला चोरी का मामला फिर से कोरबा जिले में भाजपा के वरिष्ठ नेता ननकी राम कंवर के शिकायत पर मोदी सरकार पुन: जांच कराएगी और दोषियों पर कड़ी कार्यवाही होने की संभावना लगाई जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button