BilaspurCHHATTISGARHCRIMEKORBANATIONALRaipurTOP STORY

ED को मिले करोड़ों रुपये,कोरबा से क्या कनेक्शन! दीवान और कमोड ने उगले रुपये,मशीन लगाकर गिनती

रायपुर/कोरबा। रायपुर के एक होटल से संदिग्ध रूप से कोरबा पासिंग की एक कार क्रमांक सीजी 12 एआर 6300 में बैग रखते देख ईडी की टीम ने जांच किया। सूत्रों से ईडी को जानकारी मिली थी कि राजधानी रायपुर में करोड़ों रूपये कैश लाया जा रहा है। ईडी की एक टीम कार चालक भिलाई हाउसिंग बोर्ड कालोनी ब्लाक-15 क्वार्टर नंबर 17 निवासी असीम दास उर्फ बप्पा बंगाली (36 वर्ष) को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम ने गुरुवार को रायपुर के एक होटल के सामने एक कूरियर के एसयूवी वाहन से लगभग 3.12 करोड़ रुपये जब्त किए हैं। आशंका है कि यह राशि संयुक्त अरब अमीरात से चुनाव में खर्च करने के लिए भेजी गई थी। हिरासत में लिए गए कूरियर कर्मी की निशानदेही पर भिलाई में रायगढ़ के एक कारोबारी के ड्राइवर आसिम दास के निवास पर भी ईडी ने दबिश दी, लेकिन वह फरार हो गया था। टीम के अधिकारी ताला तुड़वाकर घुसे। मकान की तलाशी के दौरान दीवान के नीचे और कमोड में भी छिपाकर रखे गए रुपये मिले। खबर लिखे जाने तक रात 12 बजे तक तीन मशीनों से नोटों की गिनती जारी थी। यहां लगभग 10 करोड़ रुपये मिलने का अनुमान है। जानकारी के अनुसार ईडी के सात अधिकारियों की टीम और अर्द्धसैनिक बल के जवान दिल्ली पासिंग तीन गाड़ियों से रायपुर पहुंचे थे। टीम में एक महिला अधिकारी भी है। यहां दोपहर एक बजे कूरियर कर्मी को हिरासत में लेने के बाद टीम भिलाई निकल गई। वहां आसिम दास उर्फ बप्पा के हाउसिंग बोर्ड जामुल के ब्लाक-15, क्वार्टर नंबर-17 निवास पहुंची। टीम को मिली रकम 2,000 और 500 के नोटों में है। बताया जाता है कि दोपहर लगभग तीन बजे कुछ युवक बोरों में कुछ लेकर आसिम के घर पहुंचे थे। बोरे छोड़कर वे चले गए थे। टीम देर रात को भी उसके निवास में डटी हुई है। पता चला है कि आसिम पूर्व में भिलाई की पार्षद और मेयर इन कौंसिल (एमआइसी) प्रभारी रीता गेरा का ड्राइवर था। यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि यह राशि महादेव सट्टा एप के संचालकों से जुड़ी है या हवाला की है।
0 चुनाव में लगाने की चर्चा
हालांकि यह चर्चा गर्म है कि यह रकम महादेव आनलाइन सट्टा एप के संचालकों से जुड़ी हुई है, जो संयुक्त अरब अमीरात से भेजी गई है। बता दें कि महादेव एप मामले में ईडी द्वारा हाल ही में एक आरोप पत्र दायर किया गया था, जिसमें कुल 14 आरोपियों को नामित किया गया था। इसमें महादेव बुक एप के मुख्य संचालक सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल के नाम भी शामिल हैं। बता दें कि सात और 17 नवंबर को दो चरणों में मतदान होना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button