BalodBaloda BazarBastarBemetaraBijapurBilaspurCHHATTISGARHDhamtariGaurella-Pendra-MarwahiJanjgir-ChampaJashpurKankerKhairagarh-Chhuikhadan-GandaiKORBAKoriyaManendragarh-Chirmiri-BharatpurMohla-Manpur-ChowkiMungeliNarayanpurNATIONALRaipurSaktiSurajpurSurgujaTOP STORY

KORBA:उमा भारती लोकसभा की सशक्त दावेदार

0 कोरबा सहित 5 सीट पर पहले आएंगे नाम

कोरबा। देश में आम चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है। छत्तीसगढ़ राज्य के कोरबा सहित 11 सीटों के लिए भी मंथन जारी है जिसमें प्रत्याशी का चयन भी शामिल है। प्रत्याशी पर अंतिम निर्णय दिल्ली को ही लेना है और अंतिम चरणों में चौंकाने वाले नाम तय हो जाते हैं। हॉट सीट कोरबा को लेकर माना जा रहा है यहां भी विधानसभा की तर्ज पर पहले चरण में चौंकाने वाला चेहरा सामने लाया जाएगा। पार्टी ने नए और युवा चेहरों को सामने लाने की बात कही है तब भाजपा नेत्री श्रीमती उमा भारती शराफ़ का नाम संसदीय क्षेत्र के राजनीतिक गलियारे में बड़ी तेजी से उभरा है। वे पैराशूट दावेदारों के मुकाबले स्थानीय और सशक्त भूमिका में हैं। पैराशूट प्रत्याशी को अपेक्षित जनसमर्थन मिलने की उम्मीद नहीं है,तब स्थानीय प्रत्याशी होने का लाभ उमा को मिलेगा। महिला वर्ग का समर्थन भी मिलेगा। लोकप्रियता और सक्रियता के मामले में भी वे कम नहीं हैं। खास बात है कि वे पिछड़ा वर्ग से हैं। कोरबा लोकसभा में पिछड़ा वर्ग के मतदाताओं की संख्या अधिक है और उनका रूझान इस वर्ग के प्रत्याशी की तरफ होना लजिमी है।
0 दायित्वों पर एक नजर
उमा भारती राजनीति शास्त्र में एमए,एलएलबी की डिग्रीधारक हैं। वर्ष 2003 में भाजपा महिला मोर्चा की मंडल अध्यक्ष का दायित्व निर्वहन किया। नगर निगम में 2006 से 2009 तक पार्षद रहीं। 2011 से 2014 तक जिला बाल कल्याण समिति सदस्य के का दायित्व निभाया। 2014 में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग का सदस्य नियुक्त किया व 2017 तक दायित्व निभाया। वर्ष 2010 से 2017 तक भाजपा महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष रहीं। वर्तमान में यह भाजपा जिला उपाध्यक्ष हैं। इन्होंने अपने निवास क्षेत्र में एकता महिला मंडल का भी गठन किया है जिसकी अध्यक्ष हैं। अपने स्वर्णकार समाज में केंद्रीय संगठन मंत्री की सेवा दे चुकी हैं।सामाजिक, राजनीतिक एवं धार्मिक क्षेत्र में अपनी सक्रिय भूमिका निभा रही हैं जनता से सीधा जुड़ाव है।

0 ओबीसी प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की
कोरबा लोकसभा सीट से लगातार पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवार ने बाजी मारी है। जांजगीर से पृथक होकर कोरबा लोकसभा सीट बनने के बाद वर्ष 2009, 2014 और 2019 में हुए चुनाव में तीनों बार पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवार सांसद बने। पहला चुनाव डॉ. चरणदास महंत (कांग्रेस), दूसरा चुनाव डॉ.बंशीलाल महतो (भाजपा) और तीसरा चुनाव ज्योत्सना चरणदास महंत (कांग्रेस) ने जीता। भाजपा ने इस सीट से दो बार ब्राह्मण समाज से करूणा शुक्ला और ज्योतिनन्द दुबे को उतारा लेकिन जीते नहीं। इसकी बड़ी वजह पिछड़ा वर्ग के मतदाताओं की पसन्द-नापसन्द हो सकती है जिनकी आदिवासियों के बाद सर्वाधिक संख्या है।

0 टिकट की दौड़ में ये भी शामिल
कोरबा लोकसभा से टिकट की दौड़ में जहां वरिष्ठ नेत्री सरोज पांडेय का नाम उभरा है तो वहीं कोरबा से विकास महतो,जोगेश लाम्बा,अशोक चावलानी, नवीन पटेल,देवेन्द्र पांडेय, गोपाल मोदी, डॉ.विशाल उपाध्याय,अधिवक्ता अशोक तिवारी, राकेश शर्मा के साथ-साथ आदिवासी वर्ग से रघुराज सिंह उइके का नाम प्रमुखता से शामिल है।

0 बैठकों का दौर शुरू,नए-युवा चेहरों को मौका
आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा‌ इस बार नए चेहरों के साथ युवाओं को भी मौका‌ देने की बात कर रही है। चुनाव पूर्व प्रत्याशी चयन से लेकर रणनीति बनाने के लिए मैराथन बैठकों का सिलसिला शुरू हो गया है। प्रदेश अध्यक्ष किरण सिंहदेव ने कहा है कि चुनाव के लिए भाजपा पूरी तरह से तैयार है। प्रत्याशी का फैसला केंद्रीय चुनाव समिति करेगी। प्रदेश की 11 में से 5 सीटों पर प्रत्याशी के नाम का ऐलान किया‌ जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button