BilaspurCHHATTISGARHKORBARaipurSakti

KORBA BREAK:जारी रहेगी सचिवों की हड़ताल:अध्यक्ष

0 इधर उप संचालक जूली ने कहा- समस्याओं का हुआ निराकरण, समय पर मिलेगा वेतन
0 हड़ताल के कारण पंचायतों में नहीं हो सका ग्राम सभा का आयोजन

कोरबा। कोरबा जिले के पंचायत सचिवों द्वारा अपनी चार मांगों को लेकर सोमवार से शुरू की गई कामबन्द कलम बंद हड़ताल को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। एक ओर जहां उपसंचालक पंचायत जूली तिर्की के द्वारा बताया गया कि समस्याओं का निराकरण कर दिया गया है तो दूसरी तरफ सचिव संघ के अध्यक्ष का कहना है की मांगों का पूर्ण रूप से निराकरण नहीं किया गया है, इसलिए हड़ताल जारी रहेगी। इन सब के बीच शासन की मंशानुरूप और पंचायती राज अधिनियम के तहत कलेक्टर द्वारा जारी किए गए आदेश के अनुसार आज सोमवार को किसी भी ग्राम पंचायत में ग्राम सभा का आयोजन नहीं कराया जा सका। इस मामले में सरपंचों का कहना है की सूचना उन तक नहीं पहुंची है क्योंकि सचिव हड़ताल पर हैं और अधिकारियों ने कुछ बताया नहीं है।

0 उप संचालक ने बताया, यह निराकरण हुआ है
सचिवों की हड़ताल के दौरान शाम होते-होते उप संचालक पंचायत द्वारा बताया गया कि जिले की विभिन्न ग्राम पंचायतों में कार्यरत् पंचायत सचिवों की मांग/समस्याओं का निराकरण किया गया है। प्रधानमंत्री आवास निर्माण कार्य में सचिवों के कार्य प्रगति अनुसार उनका माह अप्रैल एवं मई 2024 का वेतन भुगतान किया जा चुका है। सचिवों के वेतन भुगतान एक निश्चित तारीख तक किए जाने के संबंध में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पत्र जारी किया गया है। जनपद पंचायत से प्राप्त पे-डाटा अनुसार माह की 05 तारीख तक वेतन भुगतान कर दिया जाएगा। लंबित वेतन भुगतान के विषय में जनपद पंचायतों में कार्यरत् ग्राम पंचायत सचिव जिनका पूर्व में किसी कारणवष वेतन रोका गया है, उनके लिए संबंधित जनपद पंचायतों से प्राप्त विस्तृत प्रतिवेदन के आधार पर पात्रता होने पर लंबित वेतन का भुगतान किया जाएगा। इसके साथ ही कुल ग्राम पंचायत सचिव 187 की एरियर्स राशि 04 करोड़ 76 लाख 29 हजार 625 रूपए का भुगतान कर दिया गया है।
0 निराकरण से संतुष्ट नहीं सचिव संघ

इसके बाद माना जा रहा था कि सचिवों की हड़ताल खत्म हो गई है और अब सब सामान्य हो जाएगा लेकिन अध्यक्ष जयपाल सिंह कंवर ने स्पष्ट तौर पर पत्र जारी कर प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि उपसंचालक की बातों से हम सहमत नहीं हैं। मांगों का निराकरण आंशिक रूप से किया गया है, पूर्ण रूप से नहीं इसलिए हड़ताल जारी रहेगी। अब इस बात की चर्चा प्रशासनिक महकमे और सचिवों की गलियारे में होने लगी है कि जिला पंचायत सीईओ और सचिव संघ के बीच खींचतान कब और कहां तक जाकर थमेगी…?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button