BalodBaloda BazarBalrampurBastarBemetaraBijapurBilaspurCHHATTISGARHDantewadaDhamtariDurgGariabandGaurella-Pendra-MarwahiJanjgir-ChampaJashpurKabirdhamKankerKhairagarh-Chhuikhadan-GandaiKondagaonKORBAKoriyaMahasamundManendragarh-Chirmiri-BharatpurMohla-Manpur-ChowkiMungeliNarayanpurNATIONALRaigarhRaipurRajnandgaonSaktiSarangarh-BilaigarhSukmaSurajpurSurgujaTOP STORY

महतारी वन्दन योजना : सरकार ने जारी किया निर्देश

0 कलेक्टर व महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी को पत्र प्रेषित
रायपुर/कोरबा। छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की सरकार गठन होने के साथ ही विवाहित महिलाओं को प्रतिमाह 1 हजार और सालाना 12 हजार रुपए देने का संकल्प पत्र विधानसभा चुनाव के समय जारी किया गया था। 3 दिसंबर 2023 को सरकार का गठन होने के बाद से महिलाओं में महतारी वंदन योजना का लाभ लेने की उत्सुकता है। वे चुनाव के समय भराये जाने वाले आवेदनों से जहां आशान्वित हैं वहीं छूटी हुई महिलाएं फॉर्म भरने के लिए सरकारी दफ्तर से लेकर पार्टी के कार्यकर्ता और च्वाईस सेंटर और आंगनबाड़ी केन्द्रों में जानकारी लेती नजर आ रही हैं। इस बीच योजना का लाभ दिलाने के नाम पर दलाल और ठग भी सक्रिय होने लगे हैं। ऐसे मामले सामने आने पर शासन के  द्वारा सतर्कता बरतने और किसी के बहकावे में नहीं आने की अपील महिलाओं से करते हुए सभी कलेक्टर एवं महिला बाल विकास विभाग अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं।
संचालनालय, महिला एवं बाल विकास छत्तीसगढ़ की संचालक तुलिका प्रजापति के द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है कि प्रदेश में महतारी वंदन योजना लागू किए जाने की घोषणा की गयी है, जिसके अंतर्गत पात्र/चयनित विवाहित महिलाओं को 1000 रुपए प्रतिमाह आर्थिक सहायता राशि दिया जाना प्रस्तावित है। इस संबंध में अवगत होना चाहेंगे कि अभी महतारी वन्दन योजना लागू नहीं की गयी है तथा लागू किए जाने की प्रक्रिया निर्णयाधीन है। योजना लागू किए जाने की स्थिति में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा विकसित किए गए वेब पोर्टल में विभाग के अमलों के माध्यम से ही फार्म भरे जाएंगे तथा लाभ दिए जाने की कार्यवाही की जाएगी।
ऐसे अनेक प्रकरण प्रकाश में आए हैं, जिसमें अनाधिकृत लोगों के द्वारा महिलाओं से संपर्क कर महतारी वन्दन योजना से लाभ दिलाने जाने के फार्म उपलब्ध कराए जा रहे हैं एवं लाभ दिलाये जाने हेतु राशि ली जा रही है, जो कि पूर्णत: धोखाधड़ी का प्रकरण है। अत: ऐसे प्रकरण संज्ञान में आते हैं तो तत्काल नियमानुसार विधिसम्मत कार्यवाही की जाए तथा प्रत्येक स्तर पर सुनिश्चित किया जाए कि आमजन को यह ज्ञात हो कि विभाग द्वारा योजना को लागू किए जाने की स्थिति में नि:शुल्क लाभ दिया जाएगा एवं इस हेतु पैसे लिए जाने के प्रकरण में, वे नियमानुसार विधिसम्मत कार्यवाही करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button