Baloda BazarBalrampurBijapurBilaspurCHHATTISGARHDantewadaDurgGariabandJanjgir-ChampaKabirdhamKankerKhairagarh-Chhuikhadan-GandaiKondagaonKORBAKoriyaMahasamundMohla-Manpur-ChowkiMungeliNarayanpurRaigarhRaipurRajnandgaonSaktiSarangarh-BilaigarhSurajpurSurguja

पहले अपने गिरेबान में झांके हितानंद,नेतागिरी के नाम पर दुकानदारी चला रहे नेता प्रतिपक्ष

कोरबा। नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष हितानंद अग्रवाल को आड़े हाथों लेते हुए कहा गया है कि वे नेतागिरी के नाम पर अपनी दुकानदारी और ठेकेदारी चमकाने में लगे हुए हैं। विधानसभा चुनाव के समय अपनी ही पार्टी के प्रत्याशी का प्रचार छोड़कर दूसरे क्षेत्र में सक्रिय रहे और जीतने के बाद निकटता दिखाने का ढोंग रच रहे हैं।
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी की संयुक्त सचिव व जिला कांग्रेस ग्रामीण के पूर्व अध्यक्ष श्रीमती उषा तिवारी ने जारी बयान में यह बात कही है।
उषा तिवारी का बयान उस परिप्रेक्ष्य में आया है, जब नेता प्रतिपक्ष के द्वारा कोरबा लोकसभा की सांसद श्रीमती ज्योत्स्ना महंत के विरुद्ध लापता होने का सोशल मीडिया में कैंपेन चलाया जा रहा है।

श्रीमती उषा तिवारी ने कहा है कि नेता प्रतिपक्ष होने के नाते भी उनका जनसमस्याओं से कोई सरोकार नहीं रह गया बल्कि अपनी ही पार्टी में वे जयचंद की भूमिका में रहकर गुटबाजी को हवा देते रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष के स्वार्थ के कारण आये दिन उनके पेट्रोल पंप के सामने लोग सड़क हादसे का शिकार हो रहे हैं। अपने आर्थिक लाभ के लिए वे पेट्रोल पंप के सामने डिवाईडर को तुड़वाकर जनता को मुसीबत में डाल रहे हैं। उनके अपने खुद के वार्ड में समस्याओं का अंबार है लेकिन अपने वार्ड की जनता की इन्हें परवाह नहीं है,आत्ममुग्ध नेता प्रतिपक्ष जहां आंदोलन करने के नाम पर घुड़की देकर अपनी दुकानदारी चलाने के लिए दबाव डालते रहते हैं और झूठी वाहवाही लूटने में माहिर हैं। कोरबा लोकसभा क्षेत्र की लोकप्रिय सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत के लिए अनर्गल दुष्प्रचार सोशल मीडिया पर करने वाले हितानंद को अपने गिरेबान में झांक कर देखना चाहिए कि वे अपनी पार्टी के प्रति कितना सक्रिय और वफादार हैं। हितानंद अग्रवाल का राजनीति में आना ही दुकानदारी और ठेकेदारी को चमकाने के लिए एक माध्यम है। लोकप्रिय सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत अपने संसदीय क्षेत्र में लगातार सक्रिय हैं एवं जनसमस्याओं पर स्थानीय से लेकर संसद में मुखर रहती हैं। उनके लगातार प्रयासों के कारण कोरबा के विकास में अनेकों कार्य हुए हैं और इन कार्यों का लाभ कहीं न कहीं हितानंद अग्रवाल भी उठा रहे हैं, उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button